जिम जाने वाले 7 पुरुषों में एक की प्रजनन क्षमता कमजोर, रिसर्च रिपोर्ट में शॉकिंग खुलासे; जानिए क्या है बड़ी वजह

जिम जाने वाले 7 पुरुषों में एक की प्रजनन क्षमता कमजोर, रिसर्च रिपोर्ट में शॉकिंग खुलासे; जानिए क्या है बड़ी वजह

जिम जाने वाले 7 पुरुषों में एक की प्रजनन क्षमता कमजोर, रिसर्च रिपोर्ट में शॉकिंग खुलासे; जानिए क्या है बड़ी वजह हाल ही में किए गए एक रिसर्च में यह बात सामने आई है कि जिम जाने वाले हर 7 में से 1 पुरूष की प्रजनन क्षमता प्रभावित होती है। इस रिसर्च में जिम और पुरूषों के फर्टेलिटी रेशियो पर चौंकाने पर खुलासे किए गए हैं।

जिम जाने वालों पर क्या कहती है रिसर्च रिपोर्ट

हाल ही में रिप्रोडक्टिव बायोमेडिसिन ऑनलाइन में एक रिपोर्ट प्रकाशित की गई है। इसमें शामिल लोगों ने जो उत्तर दिए हैं, उससे साफ जाहिर होता है कि ज्यादातर पुरूषों को अपनी लाइफ स्टाइल और प्रजनन क्षमता के खतरों के बारे में कम ही जानकारी होती है। जिम जाने वाले करीब 79 प्रतिशत पुरूष एस्ट्रोजन का प्रयोग करते हैं लेकिन इसके नफा-नुकसान के बारे में कम ही जानते हैं। इसी रिसर्च में करीब 14 प्रतिशत लोगों ने यह भी कहा कि जिम जाने वालों की प्रजनन क्षमता तो बेहतर ही होती है। आंकड़े बताते हैं कि जिम जाने वालों के लिए जिम की टाइमिंग और क्या खाना है, यह ज्यादा महत्वपूर्ण है। उनके लिए प्रजनन क्षमता के बारे में सोचना महत्वपूर्ण नहीं है। इस बीच महिला प्रतिभागियों ने पुरुषों की प्रजनन क्षमता और जिम वाली लाइफ स्टाइल पर ज्यादा जागरूकता दिखाई।

क्या कहते हैं एक्सपर्ट्स

बर्मिंघम यूनिवर्सिटी के डॉ. म्यूरिग गैलाघेर और रिसर्च के राइटर ने कहा कि स्वस्थ रहना और स्वस्थ जीवनशैली अपनाना अच्छी बात है। पुरुष प्रजनन क्षमता के संदर्भ में सबसे बड़ी चिंता प्रोटीन सप्लीमेंट के बढ़ते उपयोग को लेकर है। मुख्य चिंता महिला हार्मोन एस्ट्रोजन का हाई लेवल है, जो प्रोटीन की जरूरत को पूरी करने के लिए लिया जाता है। महिलाओं में यह हार्मोन ज्यादा हो जाए तो पुरूषों की प्रजनन क्षमता और गुणवत्ता प्रभावित होती है। रिपोर्ट में यह बात भी सामने आई है कि जिम वाला प्रोटीन एनाबॉलिक स्टेरॉयड की वजह से खतरनाक होता है। इससे शुक्राणुओं की संख्या कम हो सकती है और अंडकोष भी सिकुड़ सकते हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार बांझपन बढ़ती चिंता का सबसे बड़ा विषय है। दुनिया में हर 6 में से 1 पुरूष इस समस्या का सामना कर रहा है।

एक्सरसाइज और कसरत शरीर को फिट और स्वस्थ रखने के लिए बहुत जरूरी माने जाते हैं। जिम में वर्कआउट करने से न सिर्फ आपके शरीर की संरचना ठीक रहती है, बल्कि आपका शारीरिक स्वास्थ्य भी सही रहता है। हार्ट को हेल्दी रखने, शरीर को डायबिटीज और ब्लड प्रेशर जैसी गंभीर बीमारियों से बचाने के लिए नियमित एक्सरसाइज या वर्कआउट करना बहुत फायदेमंद माना जाता है। आज के समय में यह देखा जाता है कि युवाओं में जिम जाने का क्रेज तेजी से बढ़ रहा है।

बॉडी-बिल्डिंग के बढ़ते क्रेज की वजह से जिम जाने वाले युवा तमाम तरह के सप्लीमेंट का भी सेवन करते हैं। इन सबके बीच जिम में बहुत ज्यादा एक्सरसाइज करने वाले लोगों को लेकर यह कहा जाता है कि बहुत ज्यादा जिम करने से पुरुषों की फर्टिलिटी कमजोर हो जाती है। सेहत और खानपान से जुड़ी ऐसी बातों की सच्चाई बताने के लिए हम ‘धोखा या हकीकत’ नाम से एक सीरीज चला रहे हैं। इसके तहत हम आपको ऐसी ही बातों की सच्चाई डॉक्टर या एक्सपर्ट के जरिए देने की कोशिश कर रहे हैं।

क्या ज्यादा जिम करने से फर्टिलिटी कम होती है?

बॉडी-बिल्डिंग करने वाले लोगों को जिम में घंटों एक्सरसाइज और वर्कआउट करने की जरूरत होती है। जिम करने वाले लोगों को विशेष डाइट और डाइट में कैलोरी का ध्यान भी रखना होता है। शारीरिक क्षमता से ज्यादा या बहुत ज्यादा एक्सरसाइज करने से शरीर पर नकारात्मक असर भी पड़ता है। बहुत ज्यादा एक्सरसाइज करने से फर्टिलिटी पर होने वाले असर को लेकर एमोरी यूनिवर्सिटी अटलांटा और नॉर्वे यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्नॉलॉजी द्वारा किये गए कुछ अध्ययनों में भी यह बात कही गयी है कि इसकी वजह से पुरुष और महिला दोनों की प्रजनन क्षमता और फर्टिलिटी पर असर पड़ता है।

हालांकि इसके पीछे सिर्फ एक्सरसाइज ही बल्कि कई दूसरे कारण भी जिम्मेदार माने जाते हैं। बहुत ज्यादा व्यायाम या एक्सरसाइज करने वाले लोगों का खानपान और उनकी लाइफस्टाइल के प्रभाव की वजह से भी यह स्थिति बन सकती है। वहीं स्पेन के कोरडोबा यूनिवर्सिटी द्वारा किये गए एक रिसर्च में भी यह कहा गया है कि जरूरत से ज्यादा एक्सरसाइज और एक्सरसाइज के साथ सप्लीमेंट्स का बहुत ज्यादा सेवन भी आपकी फर्टिलिटी पर नकारात्मक असर डालता है।

Translate »